गम के सागर मे कभी डूब ना जाना


गम के सागर मे कभी डूब ना जाना,
कोई मंज़िल ना पा सको तो टूट ना जाना,
ज़िंदगी मे अगर किसी की कमी महसूस हो तो,
हम ज़िंदा हैं ये बात भूल ना जाना.

Gam ke sagar me kabhi doob na jana,
koi manzil na pa sako to tut na jana,
zindgi me agr kisi ki kami mehsoos ho to,
ham zinda hain ye baat bhul na jana.


खुशबू ने फूल को ख़ास बनाया
फूल ने माली को ख़ास बनाया
चाहत ने मोहब्बत को ख़ास बनाया
कम्बख़्त मोहब्बत ने कितनों को देवदास बनाया

Khushabu ne phool ko khaas banaya
Phool ne maali ko khaas banaya
Chahat ne mohabbat ko khaas banaya
Kambakht mohabbat ne kitnon ko DEVDAS banaya.

जिनके दिल पे लगती है चोट,
वो आँखों से नहीं रोते.
जो अपनों के ना हुए,
किसी के नही होते,
मेरे हालातों ने मुझे ये सिखाया है,
की सपने टूट जाते हैं पर पूरे नहीं होते..

Jinke dil pe lagti hai chot,
Vo ankhon se nahin rote.
Jo apnon ke na hue,
kisi ke nahi hote,
mere halaton ne mujhe ye sikhaya hai,
ki sapne toot jate hain par poore nahin hote..

दोस्तों ने दोस्ती मे रुला दिया,
क्या हुआ जो किसी और के लिए हमे भुला दिया,
हम तो वैसे भी अकेले थे,
क्या हुआ जो तुमने ये अहसास दिला दिया!

Doston ne dosti me rula diya,
Kya hua jo kisi aur ke liye hame bhula diya,
Ham to waise bhi akele the,
Kya hua jo tumne ye ahsaas dila diya!

चाँद छुप गया मुझे रात सौंप के
आँखों को इंतज़ार के लम्हे सौंप के
एक शख्स था जो मुझ से बिछड़ गया
आखों को मौसम ए बरसात सौंप के

Chand chhup gaya mujhe raat sonp ke
Ankhon ko intazar ke lamhe sonp ke
Ek shakhs tha jo mujh se bichhad gaya
Aakhon ko mausam e barsaat sonp ke

टूटे हुए ख्वाबों मे हक़ीक़त ढूंढता हूँ
पत्थर के दिलों मे मोहब्बत ढूंढता हूँ
नादान हूँ मैं अब तक यह नहीं समझा,
बेजान बातों मे इबादत ढूंढता हूँ.

Toote hue kwabon me haqiqat dhoondhta hun
Pathar ke dilon me mohabbat dhoondhta hun
Nadaan hun main ab tak yah nahin samajha,
bejaan baton me ibadat dhoondhta hun.