Hindi Sher o Shayari Sari Umar

Hindi Sher o Shayari Sari Umar

Gam Ke Mare Jo Muskuraye Hain,
Aansuoo Ko Bhi Pasine Aaye Hain.
Kya Bala Hai Khushi Nahi Malum,
Hum To Bus Naam Sunte Aaye Hai.

गम के मारे जो मुस्कुराये हैं,
आंसुओं को भी पसीने आये हैं.
क्या बला है ख़ुशी नहीं मालूम,
हम तो बस नाम सुनते आये है.

Sari umar ankho mein ek sapna yaad raha,
Sadiyan beet gayin wo lamha yaad raha.
Jane kya baat thi uss dost main,
Saari mehfil bhool gaye
bas vo dostana yaad raha.

सारी उम्र आँखों में एक सपना याद रहा,
सदियाँ बीत गयीं वो लम्हा याद रहा.
जाने क्या बात थी उस दोस्त में,
सारी महफ़िल भूल गए
बस वो दोस्ताना याद रहा.

Kuchh to jeete hain jannat ki tamanna lekar,
kuchh tamannayen jeena sikha detin hain.
Hum kis tamanna ke sahare jiye,
ye zindagi roz ek tamanna badha deti hai.

Hindi Sher o Shayari Sari Umar

कुछ तो जीते हैं जन्नत की तमन्ना लेकर,
कुछ तमन्नाएँ जीना सिखा देतीं हैं.
हम किस तमन्ना के सहारे जिए,
ये ज़िन्दगी रोज़ एक तमन्ना बढ़ा देती है.

Dil hona chahiye jigar hona chahiye,
Aashiqi ke liye ek hunar hona chahiye.
Nazar se nazar milane par ishq nahi hota,
Nazar ke us paar bhi ek asar hona chahiye

दिल होना चाहिए जिगर होना चाहिए ,
आशिकी के लिए एक हुनर होना चाहिए.
नज़र से नज़र मिलने पर इश्क नहीं होता,
नज़र के उस पार भी एक असर होना चाहिए

Maine ro ro ke shaam guzari hai
Apke hath main lakeer hai
Warna taqdeer to hamari hai
Dil mera Todate ho to lo todo
Cheej Yeh meri nahi tumhari hai.

मैंने रो रो के शाम गुजारी है
आपके हाथ में लकीर है
वरना तकदीर तो हमारी है
दिल मेरा तोड़ते हो तो लो तोड़ो
चीज यह मेरी नहीं तुम्हारी है.